Monday, December 9, 2013

Indian Rupees




 भारतीय रिजर्व बैंक ने नोटों की बार्बदी एव मौरल वैल्यू को लेकर चिंता जताई कि किस तरह भारत में शादी ब्याह में धार्मिक स्थलो पर एंव नेताओं को माला पहनाने को लेकर अपनी षान सम-हजयते हैं ।

राष्टीय मुद्रा का इस्तेमाल माला बनाने , पड़ाल सजाने , पूजा स्थलों पर या सामाजिक आयोजनों के दौरान लुटाने में नही होना चाहिए। इससे नोटों को नुकसान होता है और उनकी सेल्फ वेल्यु कम हो जाती है। इस तरह से नोटों पर लिखने से एंव धार्मिक स्थलों में च-सजय़ावे से उनकी हालात पतली होती है। इस तरह से नोटों की हालत पतली होती है। और वे समय से पहले खराब हो जाते है जिस कारण सरकार को करोडों रू0 का नुकसान होता है और नोट समय से पहले खराब हो जाते हैं।


दुर्गेश रणाकोटी
देहरादून, उत्तराखण्ड
09 दिसम्बर 2013

No comments:

Post a Comment